saving account और current account क्या है - दोनों में अंतर क्या है

saving account और current account में अंतर क्या है | हेलो दोस्तों, आज हम आपको सेविंग अकाउंट और करंट अकाउंट के बारे में पूरी जानकारी देने वाले कि आखिर यह saving account क्या होता है और current account क्या होता है और इन दोनों में अंतर क्या है. अगर आप बैंक में अपने पैसे जमा करते हैं और अगर आपके पास अपना बैंक अकाउंट है तो आपके लिए यह जानकारी बहुत ही उपयोगी होगी.


saving account vs current account in Hindi
saving account vs current account in Hindi


हम सभी लोग काम करके जो पैसे कमाते हैं उनमें से कुछ पैसे अपने घर खर्च के लिए निकालते हैं और कुछ पैसों की बचत करते हैं जिन्हें हम अपने बैंक खाते में जमा करते हैं. ताकि जरूरत पड़ने पर वह पैसा हमारे काम आ सके. 

और बैंक खाता खुलवाने के लिए जब हम बैंक जाते हैं तब हम से यह पूछा जाता है कि आप सेविंगअकाउंट यानि की बचत खाता खुलवाना चाहते हैं या फिर करंट अकाउंट यानि की चालू खाता खुलवाना जाता है. आप दोनों में से कोई भी खाता खुलवा सकते हैं पर इससे पहले यह जरूर जान ले की saving account और current account में अंतर क्या होता है ताकि आप यह तय कर सके कि आपको saving account (बचत खाता) खुलवाना है या फिर current account (चालू खाता).

इसके अलावा जब हम ATM से कैसे निकालते हैं तब भी हमें यह पूछा जाता है कि आपका सेविंग अकाउंट से या फिर करंट अकाउंट और वहां पर तीसरा ऑप्शन भी होता है क्रेडिट अकाउंट. तो हमें अपने बैंक खाते का प्रकार वहां पर select करना होता है.

ज्यादातर बैंक के खाते या तो सेविंग अकाउंट होते हैं या फिर करंट अकाउंट. तो चलिए अब हम जानते हैं कि saving account क्या है, बचत खाते में कितना पैसा रख सकते हैं, करंट अकाउंट क्या है, करंट अकाउंट में कितने पैसे रख सकते हैं, सेविंग अकाउंट और करंट अकाउंट में क्या अंतर होता है ताकि आपका यह कंफ्यूजन दूर हो जाए.


saving account क्या है - what is saving account in Hindi


सेविंग अकाउंट जिसे बचत खाता भी कहा जाता है. और इसके नाम पर से ही हमें यह अंदाजा आ जाता है की बैंक के इस प्रकार के खाते में हम अपने बचाए हुए पैसों को जमा करते हैं. आम आदमी के लिए बचत खाता बहुत फायदेमंद होता है. हम जो पैसे कमाते हैं उनमें से कुछ पैसों की बचत कर के हम सेविंग अकाउंट यानी की बचत खाते में उसे जमा करते हैं.

सेविंग अकाउंट का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसमें आपको ज्यादा ब्याज मिलता है अगर आपका saving account है तो आपको 4% तक ब्याज मिलता है और कुछ बैंक ऐसे भी होते हैं जहां पर आपको 6% तक भी मिलता है पर वहां पर कुछ conditions लगी हुई होती है.

तो अब आपको पता चल गया होगा की सेविंग अकाउंट क्या है, बचत खाता क्या है. तो चलिए अब हम जानते हैं कि करंट अकाउंट क्या है.

Also read:


current account क्या है - what is current account in Hindi


अगर आपके पास सेविंग अकाउंट है तो उसमें रोज पैसों का लेनदेन करने कि कुछ limit होती है पर अगर आपका कोई business है या फिर आप ऐसा कोई कार्य करते हैं जिसमें की आपको रोजाना ज्यादा पैसों का लेनदेन करना हो तो करंट अकाउंट आपके लिए best है.

जो बिजनेसमैन है, जो खुद की कंपनी चलाते हैं उन लोगों के लिए current account बेस्ट हैं क्योंकि उन्हें रोजाना पैसों का लेनदेन करना होता है और इसी वजह से वे लोग current account (चालू खाते) का उपयोग करते हैं.

अब आप जान चुके हैं की करंट अकाउंट क्या है (what is current account in Hindi) अब इसे और भी आसान तरीके से समझने के लिए चलिए हम सेविंग अकाउंट और करंट अकाउंट दोनों की तुलना करते हैं और जानते हैं कि सेविंग अकाउंट और करंट अकाउंट में अंतर क्या है.


saving account और current account मैं अंतर क्या है (Difference between saving account and current account in Hindi)


कहां जाएं तो हम जैसे आम आदमी के लिए सेविंग अकाउंट यानी की बचत खाता होता है और जो लोग बिजनेस करते हैं, खुद की कंपनी होती है जिन्हें की रोज बड़े-बड़े ट्रांजैक्शन करने होते हैं उनके लिए करंट अकाउंट होता है.

हम अपने घर खर्च के अलावा बचाए गए पैसो को बचत खाते में जमा करते हैं जबकि करंट अकाउंट में रोजाना पैसों का लेनदेन होता है.

जैसे कि सबसे पहले हमने आपको बताया कि सेविंग अकाउंट में रोजाना ट्रांजैक्शन करने की लिमिट होती है मतलब कि आप 1 दिन में कुछ बार ही पैसों का लेनदेन कर सकते हैं. ज्यादातर बैंकों में आप 4 से 5 बार 1 दिन में पैसों का लेनदेन कर सकते हैं जबकि करंट अकाउंट में ऐसा नहीं होता है. करंट अकाउंट में आप जितनी बार चाहो उतनी बार 1 दिन में पैसों का लेनदेन कर सकते क्योंकि इस अकाउंट में रोजाना बड़े पैमाने में ट्रांजैक्शन किए जाते हैं इसीलिए करंट अकाउंट में किसी भी प्रकार की limit नहीं रखी गई है.

saving account का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसमें जमा किए हुए पैसो का हमें ब्याज मिलता है जोकि 4 से 5% तक होता है. पर अगर आपके पास करंट अकाउंट है तो आपको कोई भी ब्याज या interest नहीं मिलेगा फिर चाहे आपके current account में कितने भी पैसे जमा हो आपको उसका कोई ब्याज नहीं मिलेगा.

सेविंग अकाउंट और करंट अकाउंट में एक बड़ा अंतर यह भी है की सविनंग अकाउंट में आप थोड़े पैसे जमा करके रख सकते हैं. यु कहे तो आपने देखा होगा की बैंक अकाउंट में मिनिमम कुछ रुपए तो होने ही चाहिए अगर उससे कम होते हैं तो आपका अकाउंट कुछ महीनों के बाद बंद कर दिया जाता है या फिर आपको उसका चार्ज देना पड़ता है. तो जो वह जरूरी मिनिमम बैलेंस है वह सेविंग अकाउंट में बहुत कम होता है जबकि करंट अकाउंट में ज्यादा होता है.

अगर आपका saving अकाउंट है तो आप में जमा किए गए पैसे से ज्यादा पैसा आप नहीं निकाल सकते जबकि करंट अकाउंट में आपको और ज्यादा फायदा मिलता है इसमें अगर आपके बैंक अकाउंट में जितने पैसे हैं उनसे थोड़े ज्यादा पैसे भी निकाल सकते हैं. जिसका भुगतान आप बाद में कर सकते हैं. यह सुविधा current account में मिलती है, saving account में ऐसी कोई सुविधा नहीं.

सेविंग अकाउंट के भी अपने कुछ फायदे हैं और करंट अकाउंट के भी कुछ अपने फायदे हैं. दोनों अपनी जगह सही है. अगर आप सेविंग अकाउंट खुलवाना चाहते हैं तो आप खुलवा सकते हैं और अगर आप करंट अकाउंट खुलवाना चाहते हैं तो वह भी आप खुलवा सकते हैं.

यह भी पढ़े:

Conclusion:

तो में उम्मीद करता हु की सेविंग अकाउंट और करंट अकाउंट में क्या अंतर है (difference between saving account and current account in Hindi) इसके बारे में विस्तार से लिखा गया यह आर्टिकल आपको पसंद आया होगा. अगर अभी भी आपके मन में कोई कंफ्यूजन है तो आप नीचे कमेंट की जरिये हमें जरूर बताएं.

दोस्तों इस आर्टिकल में हमने आपके सवाल जैसे की सेविंग अकाउंट क्या है (what is saving account inn Hindi), सेविंग अकाउंट का मतलब क्या होता है (saving account meaning in hindi), करंट अकाउंट क्या है (what is current account in hindi), करंट अकाउंट का मतलब क्या होता है (current account meaning in Hindi), बचत खाता और चालू खाता में अंतर क्या है, सेविंग अकाउंट  के फायदे क्या है और करंट अकाउंट के फायदे क्या है.

अगर यह article पसंद आया हो तो इसे अपने मित्रों को भी शेयर जरूर करें और ऐसे ही आर्टिकल पढ़ने के लिए हमारे blog को जरूर follow करें और हमारे blog में लिखे गए अन्य आर्टिकल को भी जरूर पढ़ें. धन्यवाद.
Previous
Next Post »