prepaid और postpaid में क्या अंतर होता है - prepaid and postpaid Meaning in Hindi

prepaid और postpaid में अंतर क्या है - prepaid meaning in Hindi and postpaid Meaning in Hindi | हेलो दोस्तों, आज हम आपको प्रीपेड और पोस्टपेड में क्या अंतर है इसके बारे में बताने वाला है. हम सभी लोग mobile का इस्तेमाल करते हैं, मोबाइल से एक दूसरे को call करते हैं, internet का इस्तेमाल करते हैं, s.m.s. करते हैं. तो prepaid और postpaid का संबंध इन्हीं से जुड़ा हुआ है. हमें call करने के लिए SIM card की जरूरत पड़ती है जिसकी मदद से हम एक दूसरे से बातचीत कर सकते हैं. सिम कार्ड के 2 प्रकार होते हैं. prepaid और postpaid.


prepaid and postpaid Meaning in Hindi
prepaid and postpaid Meaning in Hindi

ज्यादातर लोगों को उनके बारे में जानकारी नहीं होती है कि prepaid और postpaid में क्या अंतर होता है (difference between prepaid and postpaid in Hindi)? अगर आपको नहीं पता कि प्रीपेड और पोस्टपेड में क्या अंतर है तो यह article आपके मिले हैं. इस article में हम prepaid और postpaid के बारे में सही जानकारी आपको देने वाले कि आखिर prepaid sim क्या होता है (what is prepaid sim in Hindi) और postpaid  क्या है (what is postpaid sim in Hindi) इन दोनों में अंतर क्या है.

Jio, Airtel, idea, Vodafone सभी company के अपने prepaid और postpaid plan होते हैं और उनका recharge करने के plan भी अलग-अलग होते हैं.

यह भी पढ़े:

सबसे पहले हम आपको बताएंगे कि prepaid sim क्या होता है (prepaid meaning in Hindi) और उसके बाद हम आपको बताएंगे कि postpaid sim क्या होता है (postpaid meaning in Hindi) और उसके बाद हम जानेंगे कि prepaid और postpaid में क्या अंतर है ताकि आप और बेहतर तरीके से समझ पाए और इन दोनों प्रकार के सिम के बारे में अच्छे से जानकारी हासिल कर सकें. तो चलिए शुरू करते हैं और जानते हैं कि प्रीपेड सिम क्या होता है.


prepaid SIM क्या होता है - prepaid meaning in Hindi


हम इस शब्द को दो भागों में विभाजित करके आपको आसान तरीके से समझाते हैं. prepaid में दो शब्द "pre" और "paid" है. pre का मतलब "पहले" और paid का मतलब "भुगतान करना". मतलब कि पहले भुगतान करना. अगर आप prepaid sim का use कर रहे हैं तो आपको पहले recharge करवाना पड़ता है और उसके बाद आप उनकी सुविधा का फायदा उठा सकते हैं. 

मोबाइल के जरिए call कर सकते हैं और इंटरनेट का इस्तेमाल कर सकते हैं. आसान भाषा में करें तो पहले रिचार्ज करें और बाद में सुविधा का आनंद लीजिए.

अब आपको पता चल गया होगा प्रीपेड सिम क्या होता है (what is prepaid in Hindi)  प्रीपेड का मतलब क्या होता है (prepaid meaning in Hindi)  तो अब हम जानते हैं कि पोस्टपेड क्या होता है (what is postpaid in Hindi) पोस्टपेड का मतलब क्या होता है.


postpaid SIM क्या होता है - postpaid Meaning in Hindi


जिस तरह हमने prepaid शब्द को दो भागों में बांटा था ठीक उसी तरह हम postpaid शब्द को दो भागों में बांट सकते हैं. "post" और "paid". post का मतलब "बाद में" और paid का मतलब तो "भुगतान करना" करना है. postpaid का मतलब है कि पहले इस्तेमाल करो और बाद में भुगतान करो.  

पोस्टपेड का मतलब prepaid से बिल्कुल उल्टा होता है. postpaid sim में आप उनकी सुविधा का लाभ पहले उठा सकते हैं और फिर आप monthly या फिर yearly उसका bill pay कर सकते हैं. आसान शब्दों में कहें तो पहले आनंद लीजिए बाद में भुगतान करें.

तो अब आपको postpaid क्या होता है (what is postpaid in Hindi) पोस्टपेड का मतलब क्या है (postpaid meaning in Hindi) इसके बारे में पता चल गया होगा. अब बारी आती है यह जानने की की prepaid और postpaid में क्या अंतर है. तो चलिए अब हम उन दोनों प्रकार के SIM की सुविधा को ध्यान में रखते हुए आपको prepaid और postpaid में अंतर बताते हैं ताकि आप बेहतर तरीके से प्रीपेड और पोस्टपेड का मतलब जान सके.


prepaid और postpaid मैं क्या अंतर है - difference between prepaid and postpaid in Hindi

prepaid और postpaid दोनों में सबसे पहला अंतर हे recharge का. prepaid sim मैं आपको पहले रिचार्ज करना होता है और उसके बाद आप उसका इस्तेमाल कर सकते हैं और दूसरी और postpaid में आप पहले इंटरनेट और call का आनंद ले सकते हैं और उसके बाद आपको monthly या yearly भुगतान करना पड़ेगा. प्रीपेड और पोस्टपेड में सबसे बड़ा अंतर यह है.

अगर आप प्रीपेड सिम का इस्तेमाल कर रहे हैं तो उसमें आपने जितनी रुपए का रिचार्ज करवाया होगा जब तक वह रिचार्ज खत्म नहीं हो जाता तब तक आप उसके सुविधा का उपयोग कर सकते हैं. मतलब की प्रीपेड मैं कोई limit नहीं होती है. जबकि postpaid में होती है. इसमें आपको 1 year में या फिर 1 month के बाद recharge करना होता है.

अगर आपको emergency call करना हो और अगर उस वक्त आपका balance खत्म हो गया हो तो आप prepaid sim में 5 से 10 रुपए तक छूट मिल जाती हैं फिर बाद में आप उसका भुगतान कर सकते हैं और अगर आप postpaid sim के user होंगे तो आपको इसकी कोई आवश्यकता नहीं पड़ेगी क्योंकि इसमें आपको monthly या फिर yearly payment करना होता है. आप जितनी चाहे उतनी बात कर सकते हैं और इस्तेमाल कर सकते हैं. जो भी bill आएगा वह आपको 1 महीने के बाद 1 साल के बाद आपने जो भी plan select किया होगा उस हिसाब से भरना होगा.

अगर आपका काम ही कुछ ऐसा है जिसमें कि आपको बहुत सारे call करने पड़ते हैं, s.m.s. करने पड़ते हैं तो आपके लिए prepaid plan सही नहीं है. उसमें आपको ज्यादा फायदा नहीं होगा. जबकि अगर आप postpaid sim का इस्तेमाल करोगे तो आपको ज्यादा call और ज्यादा s.m.s. पर फायदा होगा. आपको प्रीपेड के मुकाबले पोस्टपेड में ज्यादा फायदा देखने को मिलेगा अगर आप ज्यादा कॉल और s.m.s. करते हैं तो.

अगर आप postpaid sim के user हो सके तो आपने महीने भर में जितने  कॉल किए होंगे या s.m.s. किए होंगे या फिर इंटरनेट का इस्तेमाल किया होगा उस हिसाब से आपको bill pay करना पड़ेगा और अगर आप प्रीपेड सिम के यूजर है तो उसमें आपको monthly payment  नहीं करना पड़ता आपने जितने रुपए का recharge करवाया होगा वह खत्म हो जाने के बाद आपकी सुविधा रोक दी जाएगी. फिर जब दोबारा रिचार्ज करोगे तब आप उस सुविधा का लाभ उठा सकेंगे तब तक नहीं.

अगर आपका कोई business है तो आपके लिए postpaid ज्यादा फायदेमंद होगा.  बिजनेस वालों के लिए प्रीपेड के मुकाबले पोस्टपेड ज्यादा फायदेमंद होता है और इसकी भी एक वजह है, जिसके बारे में हम आपको आगे बताएंगे.

प्रीपेड और पोस्टपेड में यही अंतर है जो मैंने आपको ऊपर बताया है. अब आप जान चुके हैं की prepaid और postpaid में क्या अंतर है तो चलिए अब हम आपको प्रीपेड और पोस्टपेड सिम से जुड़े कुछ सवाल और उनके जवाब से अवगत कराते हैं.

Also read:


prepaid और postpaid से जुड़े सवाल जवाब


यहां पर आपको कुछ सवाल और उनके जवाब दिए गए हैं जोकि अक्सर लोग पूछते हैं.


1. prepaid और postpaid मैं से बेहतर कौन है?


अगर हम इस विषय में बात करें तो इसका जवाब यह होगा कि अगर आप business करते हो और आपको ज्यादा call और s.m.s करने की जरूरत होती है तो postpaid आपके लिए बेहतर है और अगर आपको ज्यादा call और s.m.s. करने की जरूरत नहीं होती है तो prepaid plan आपके लिए बेहतर हैं.

बिजनेस वालों के लिए postpaid sim  इसीलिए फायदेमंद होता है क्योंकि उन्हें ज्यादा call और s.m.s करने होते हैं जिसमें उनका फायदा होता है. इसीलिए ज्यादातर बिजनेस वाले लोग पोस्टपेड प्लान को ही choose करते हैं.


2. postpaid में हमें बिल monthly pay करना पड़ता है कि yearly?


यह आप पर निर्भर करता है. आप monthly भी pay कर सकते हैं और yearly भी pay कर सकते हैं.


3. क्या prepaid और postpaid के plan same होते हैं?


नहीं. prepaid और postpaid दोनों में अलग-अलग plan होता है. prepaid के लिए भी अलग प्लान होता है और पोस्टपेड के लिए भी अलग प्लान होता है.


4. क्या postpaid में payment करने के लिए credit card की जरूरत पड़ती है?


हां. postpaid मैं payment करने के लिए आपके पास क्रेडिट कार्ड होना चाहिए, जबकि प्रीपेड प्लान का बिल भरने के लिए अगर आपके पास क्रेडिट कार्ड नहीं है तो भी चलता है. पर पोस्टपेड में बिल भरने के लिए credit card का होना जरुरी है.


5. इमरजेंसी के वक्त प्रीपेड सिम में कितने रुपए तक का लोन मिल सकता है?


अगर आपके प्रीपेड सिम में रिचार्ज का प्लान खत्म हो गया है और आपको इमरजेंसी कॉल करना है तो उसके लिए आपको 5 से ₹10 तक का लोन मिल सकता है. पोस्टपेड में इसकी जरूरत ही नहीं होती, क्योंकि उसमें आपको monthly या yearly payment करना होता है. आप जितने चाहे उतने call कर सकते हैं उसमें कोई परेशानी नहीं है.

तो यह थे प्रीपेड और पोस्ट पेड़ से जुड़े कुछ सवाल और उन सवालों के जवाब जिससे कि आपका confusion दूर हो सके.

Conclusion:

तो अब मैं आशा करता हूं कि आपको प्रीपेड और पोस्टपेड में क्या अंतर है इसके बारे में लिखा गया यह article आपको पसंद आया होगा. इस आर्टिकल में हमने आपको बताया कि प्रीपेड सिम क्या होता है (what is prepaid sin  Hindi) और पोस्टपेड सिम क्या होता है (what is postpaid in Hindi) प्रीपेड सिम के फायदे क्या है और पोस्टपेड सिम के फायदे क्या है, प्रीपेड और पोस्टपेड में क्या अंतर है (difference between postpaid and prepaid in Hindi). बिजनेस वालों के लिए पोस्टपेड क्यों फायदेमंद है उनके बारे में मैंने आपको पूरी detail में समझाया है.

अगर आपको यह लेख पसंद आया तो इसे अपने मित्रों को whatsapp या Facebook के जरिए share करें ताकि वह भी प्रीपेड और पोस्टपेड के बारे में लिखी गई यह post पढ़ सकें और जान सकें. धन्यवाद.

Previous
Next Post »